Khoye Hue Pyar Ko Pane K Upay

Khoye Hue Pyar Ko Pane K Upay,”क्या आप प्रेमी को पाने के उपाय प्राप्त करना चाहते है या प्रेमी का खोया प्यार पाने के उपाय ? प्यार चाहे पति-पति के बीच का हो, या प्रेम-प्रेमिका के दिल में पनपा हुआ। इसे सदा के लिए कायम रखना कोई सहज खेल नहीं है। प्रेम की सच्चाई और प्रगाढ़ता जीवन में कई बातों पर निर्भर करती है, जिसे परिस्थितियों के माहौल के अनुरूप सहेजना-संभालना पड़ता है। इसके लिए किए जाने वाले सरल नुस्खों के अतिरक्ति तंत्र, मंत्र, टोने-टोटके और ज्योतिषीय उपायों के हो सकते हैं।

कई बार प्रेमियों के बीच अनबन हो जाती है या उनको लगता है कि उनके प्रेम में फीकापन आ गया है, या फिर प्रिय का किसी और के साथ मधुरता बन गई है। इसे ध्यान में रखते हुए आवश्यक है कि प्रेम की डोर कभी कमजोर नहीं होने पाए, लेकिन कैसे? इसे समझने के लिए आईए जानते हैं कुछ तांत्रिक, वैदिक और टोटके के उपायों के बारे में, जो प्रेम की अनुभूति को बढ़ा देगा।

Khoye Hue Pyar Ko Pane K Upay

मोहिनी सिद्धि: किसी लड़की के दिल मे प्यार की चाहत जगाने के लिए किया जाने वाला उपाय मोहनी सिद्धि है। इसके लिए किए जाने वाले कुछ उपाय इस प्रकार हैंः-

  • सहदेई की जड़ को कमर में बांधकर प्रेम की चाहत रखने वाली लड़की के पास जाने से उसका सम्मोहन बढ़ जाता है और वह वश में आ जाती है। इस तरह से प्यार के पनपने की शुरूआत हो जाती है।
  • सफेद अपराजिता की जड़ को गोरोचन के साथ पीसे हुए पदार्थ को तिलके रूप में लगाकर प्यार के लिए पसंदीदा लड़की के पास जाने से उसके दिल में प्यार उमड़ पड़ता है और वह मन-मस्तिष्क से वशीभूत हो जाती है।
  • सफेद आक की जड़ को लाल धागे के साथ कमर में बांधकर प्रिय के पास जाने से उसके प्रेम में मधुरता आ जाती है।
  • प्यार करने वाले को चाहिए कि वे धतूरे के बीज को नारियल में कपूर के साथ मिलाकर पीस लें। इसका नियमित तिलक लगाएं। इसके प्रभाव से प्रेमिका के प्यार में जारा भी कमी नहीं आती है और उसके मन में कभी भी छोड़कर दूसरे के पास जाने के बारे में विचार तक नहीं आते हं।
  • प्रेमियों को आपसी प्रेम बनाए रखने के लिए चाहिए कि वे शुक्रवार और पूर्णिमा के दिन अवश्य मिलें। यह दिन प्रेम की प्रबलता बढ़ाने वाला होता है तथा इस दिन मिलने से प्रेमियों के बीच प्रेम में कमी नहीं आती है। इसके साथ ही यदि चाहते हैं कि प्रेम-प्रसंग में किसी तरह की बाधा नहीं आए, और न ही विवाद उभरने पाए तो उन्हें अमावस्या या शनिवार के दिन मिलने से बचना चाहिए।

सच्चे प्रेम की मनोकामना: जिस किसी से प्यार करें उसे पाने के लिए अपने अराध्य देव या दूसरे देवी-देवताओं से प्रार्थन करें कि उसमें रत्तीभर भी फर्क नहीं आने पाए। इस संबंध में आध्यात्मिक, अनुष्ठानिक और धार्मिक उपाय इस तरह के हैंः-

  • पूजा और मंत्र जापः भगवान विष्णु और लक्ष्मी की तीन महीने तक विधि के अनुसार पूजा करने और मंत्र जाप से सच्चे प्रेम की मानोकामना पूर्ण हो जाती है। इस पूजा का शुभारंभ शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन से करनी चाहिए। उनकी सामान्य पूजन के बाद मंत्र ओम लक्ष्मी नारायण नमः का तीन माला जाप तीन महीने तक लगातार किया जाना चाहिए। इसी के साथ तीन माह तक प्रत्येक गुरुवार को मंदिर में प्रसाद चढ़ाना चाहिए।
  • मां दुर्गा की पूजाः प्रेमिका को अपना बनाने या कहें उसके दिल में अपनी विशिष्ट जगह बनाने के लिए मां दुर्गा की पूजा और उनकी प्रतिमा पर लाल रंग का ध्वजा या चुनरी चढ़ाने से प्रेम में मनोवांछित सफलता मिलती है।
  • श्रीकृष्ण की आराधनाः प्रेम की चाहत, प्रेमिका की निष्ठा, सच्चाई और भावनात्मक माधुर्यता बनाए रखने के लिए भगवान श्रीकृष्ण के मंदिर में बांसुरी के साथ पान अर्पित करना चाहिए। ऐसा तब तक करना चाहिए जबतक कि प्रेमिका प्रेम को स्वीकार ने कर ले। या कहें दिल को प्रेमिका के प्रेम का एहासास न हो जाए। इसके साथ ही भगवान श्रीकृष्ण के साथ राधा के प्रेममय तस्वीर का ध्यान कर मंत्र ओम हुं ह्रीं सः कृष्णाय नमः का जाप करने से मनचाहा प्रेम विवाह संपन्न हो जाता है। इस मंत्र के जाप के बाद भगवान श्रीकृष्ण के ऊपर शहद का छिड़काव करें।
  • रुद्राभिषेकः मनचाहे प्रेम को पाने का एक उपाय रुद्राभिषेक का अनुष्ठा भी है। इसे विधि-विधान के साथ किया जाना चाहिए तथा इसके लिए सुनिश्चत संख्या में मंत्र का जाप ब्रह्मण द्वारा बताए गए कठोर नियम पालन करते हुए करना चाहिए।
  • सोलह सोमवारः सच्चे प्रेम की प्रप्ति सोलह सोमवार का व्रत से भी संभव है। नियमपूर्वक इस व्रत को करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और सुयोग्य, सुंदर और सदा प्रेम करने वाली जीवन साथी मिलती है, जिसका प्रेम भाव कभी कम नहीं होता है।
  • आकर्षण का बीजमंत्रः प्रेम की शुरुआत, या कहें दिल में किसी के प्रति चाहत की सुगबुगाहट तभी होती है जब प्रेम करने वालों के बीच अद्भुत आकर्षण पैद हो। इसके लिए उन्हें बीज मंत्र का प्रयोग करना चाहिए। वह मंत्र हैः- ओम क्लीं नमः। इसी के साथ आकर्षण शक्ति को इस मंत्र के जाप से भी बढ़ाया जा सकता है। मंत्र हैः- ओम क्लीं कृष्णाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहः। इस मंत्र का जाप राधा-कृष्ण की तस्वीर या प्रतिमा के ओग 108 बार प्रत्येक शुक्रवार को किया जाना चाहिए।
  • सुरक्षित रहे प्यारः प्यार को बचाकर रखना आसान नहीं है। इसके खो जाने या प्रेमिके रूठ जाने की आशंका बनी रहती है। प्यार को सुरक्षित बनाए रखने के लिए मंत्र ओम हीं नमः का एक सप्ताह तक प्रतिदिन 1000 जाप करना चाहिए। जाप के दौरान लाला कपड़ा पहनें और कुमकुम की माला धारण करें। इसके प्रभाव के बारे में बताया गया है कि यह प्रेमिका या पत्नी को प्रेमजाल में बांधकर रखने के लिए उपयोगी है।
  • शाबर मंत्रः प्रेमियों या दंपति के बीच प्रेम-संबंध की मधुरता बनी रहे इसके लिए कामदेव को शाबर मंत्र के जरिए प्रसन्न रखना जरूरी है। वह मंत्र हैः- ओम कामदेवाय विद्य्महे, रति प्रियायै धीमहि, तन्नो अनंग प्रचोदयात्। इसके जाप से दंापत्य जीवन में प्रेम की रसधारा के प्रवाह में गति आ जाती है। इसके अतिरिक्त ‘‘ओम नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहा।’’ मंत्र के जाप से मनसिक और शारीरिक आकर्षण, दोनों मं तीव्रता आ जाती है।
  • शुक्र मंत्रः वशीकरण और प्रेमियों के बीच आपसी आकर्षण बनाए रखने तथा यौन क्षमता बढ़ाने के लिए शुक्र मंत्र ‘‘ओम द्रां, द्रीं, द्रौं सः शुक्राय नमः’’ का बताए गए विधिनुसार जाप करना चाहिए। इससे खोया हुआ प्यार भी वापस मिल जाता है या रूठी प्रेमिका को मनाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *