Totke For Love Marriage

Totke For Love Marriage,”Lal kitab is generally called “The Wonder Book” of Astrology.There are various stand-out restorative measures in lal kitab to handle regular day to day existence issues in human life. The upayas in lal kitab are especially essential, strong, convincing and don’t require any sidhi, sharpen, yagnas and other exorbitant services. These cures ought to be conceivable at home without jumbled and expensive traditions. One can go ahead with a happy life by accepting lal kitab cures.

The women whose mate has extra matrimonial issue or got by another woman or don’t love you or constantly incorporate into a fight with you by then by making usage of this lal kitab mantra, one can get support of her husband.This lal kitab cures is to get love from spouse or lal kitab mantra to get pati back.

Totke For Love Marriage

Totka: On the midnight (12am) of Thursday or Friday trim some hair from life partner’s choti (पति की चोटी के कुछ बाल काट लें ) and keep them in such place where spouse can not see them.By doing this, there will there will be some adjustment in your significant other’s lead and a short time later he will start to obey you.And after some days hurl these hair out of house.

आप अपने मनपसंद साथी के साथ विवाह बंधन में बंधना चाह रहे हैं और तमाम मुश्किलें आपके सामने खड़ी हैं तो अपनाइए कुछ खास उपाय। इन उपायों से आप अपने वेलेंटाइन के साथ बिना किसी बाधा के शादी के बंधन में बंध सकेंगे। ‍ नीचे दिए गए मंत्रों को इच्छुक लड़की 91 दिन घी का दीपक लगाकर जप करें। दुर्गा जी का ध्यान कर 5 माला प्रतिदिन जपें। मां भगवती के आशीर्वाद से आपका अपने वेलेंटाइन से शीघ्र विवाह हो जाएगा।

Totke For Love Marriage

मंत्र :

1- हे देवि कात्यायनी यथा त्वं शंकरप्रिया।
तथा माम कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम।।

2- कात्यायनी महामाया, महायोगीन्यधीश्वरी
नंद गोप सुतं देहि पति में कुरु ते नम:।।

दूसरा उपाय : शनिवार के दिन सुंदरकांड का पाठ करें। सरसों या तिल्ली के तेल का ही दीपक लगाएं।

तीसरा उपाय : माह की प्रत्येक प्रदोष तिथि को मां पार्वती का श्रृंगार कर विधिवत पूजन करें। तीन रत्ती से अधिक का जरकन, हीरे या पुखराज की अंगूठी अनामिका में शुभ मुहूर्त में विधिवत धारण करें।

मां पार्वती की विधिवत पूजा करके प्रतिदिन मंत्र की पांच माला का जाप करने पर मनोरथ शीघ्र पूर्ण होता है।
कात्यायनी महामाया, महायोगीन्यधीश्वरी नंद गोप सुतं देहि पति में कुरु ते नम:।।

चौथा उपाय : विवाह के लिए गुरु आराध्य है तथा प्रेम के लिए मंगल और शुक्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *